NSS

राष्ट्रीय सेवा योजना प्रतिवेदन

सत्र 2015-16:- महाविद्यालय में 100 छात्र एवं 100 छात्राओं की राष्ट्रीय सेवा योजना की पृथक-पृथक इकाईयां संचालित है। रा.से.यो. छात्र इकाई में 103  एवं छात्रा इकाई में 125 स्वयं सेवक पंजीकृत हुए। सत्र के दौरान निमित्त गतिविधि, दीवाषिविर एवं विशेष षिविरों का आयोजन किया गया। निमित्त गतिविधि में वृक्षारोपण, परिसर की सफाई, गाजर-घास उन्मूलन एवं स्वच्छत भारत मिशन पर कार्य किया गया।इसी प्रकार सात दिवसीय विशेष षिविर के तहत ग्राम रानीबछाली में स्कुल प्रांगण की मरम्मत एवं सफाई, सोख्ता निर्माण, नालियों की सफाई एवं प्रषासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार किया गया। सत्रान्त में 10 स्वयं सेवकों को बी. प्रमाण-प़त्र प्रदान किया गया।

सत्र 2016-17:- इस सत्र छात्र इकाई में 107 एवं छात्रा इकई में 144 स्वयं सेवक पंजीकृत हुए। सत्र के दौरान माह अगस्त में गोदग्राम घासीपुर में वृक्षारोपण किया गया। इसी प्रकार स्वच्छ भारत मिशन, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ओ ,सुकन्या समृद्धि योजना वृद्धा पेंशन योजना आदि का प्रचार-प्रसार किया गया। स्वयं सेवकों द्वारा षारदीय नवरात्र के पर्व पर महामाया मंदिर रतनपुर में दीवाषिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान निःशक्तो का मंदिर प्रवेश एवं मंदिर समिति का सहयोग किया गया।

सत्र 2017-18:- महाविद्यालय में इस वर्ष छात्र इकाई में 116 एवं छात्रा इकाई में 105 विद्यार्थी पंजीकृत हुए। नियमित गतिविधि के अंतर्गत प्रत्येक शनिवार श्रमदान के लिए निर्धारित किया गया था। इसके तहत जागरूकता रैली, खरपतवार उन्मूलन, परिसर की साफ-सफाई एवं रख-रखाव संबंधी कार्य किया गया।इसी प्रकार रा.से.यो. के स्वयं सेवको द्वारा महाविद्याालय परिसर स्थित गार्डन में भव्य चबुतरे का निर्माण किया गया।माह जुलाई में वन विभाग एवं रा.से.यो. संयुक्त रूप से हरियर छत्तीसगढ़ के तहत स्टेडियम के मेढ़ो पर सघन वृक्षारोपण किया गया। माह दिसंबर में रेड क्रास के अंतर्गत रेस्क्यू टीम बिलासपुर द्वारा ‘‘सर्पदंश से बचाव‘‘ कार्यक्रम का सफल आयोजन किया गया।विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी ग्राम रानीबछाली में सात दिवसीय विशेष षिविर का आयोजन किया गया। षिविर के दौरान ग्रामीणो के सहयोग से भव्य ‘‘ठाकुर देव चबुतरा‘‘ का निर्माण किया गया। सत्र के अंत में 19 स्वयं सेवको को बी. प्रमाण पत्र से सम्मानित किया गया।

सत्र 2018-19:- रा.से.यो. छात्र इकाई में 126 एवं छात्रा इकाई में 110 विद्यार्थी पंजीकृत हुए। सत्र के दौरान गोदग्राम घासीपुर में फलदार पौधो का वितरण किया गया। इसके अलावा जनजागरूकता रैली एवं लोक-कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार किया गया।‘‘ग्रीन कैंपस-क्लीन कैंपस‘‘ के तहत महाविद्यालय परिसर को हरा-भरा बनाने में स्वयं सेवको ने अपना महत्वपुर्ण योगदान दिए। गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी शारदीय नवरात्र पर्व पर महामाया मंदिर परिसर में दीवाषिविर का आयोजन किया गया। इसी प्रकार सात दिवसीय विशेष षिविर के अंतर्गत स्कुल प्रांगण में सांेख्ता निर्माण, चबुतरा मरम्मत एवं देवालय के आस-पास की सफाई किया गया। स्वयं सेवको द्वारा षिक्षाप्रद लोकनाट्य एवं लोककला का मंचन किया गया। सत्र के अंत में 12 स्वयं सेवको को बी. प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।