Library

माँ महामाया की असीम कृपा से महाविद्यालय के स्थापना से ही एक संपन्न ग्रंथालय संस्था में स्थापित है। ग्रंथालय सेवा द्वारा छात्ऱ-छात्रों एवं पाठकों  के संदर्भ में सषक्तिकरण को उनके क्षमता निर्माण एवं कौषल विकास के माध्यम से साक्षरता और षिक्षा की दिषा में प्रयत्न के रुप में देखा जाता है। जो पाठकों के सतत् व्यक्तित्व के विकास के लिये आवष्यक र्है।

ग्रंथालय में शासन की विभिन्न योजनाओं से प्राप्त आबंटन की पुस्तकें  नियमानुसार क्रय के पश्चात् व्यवस्थित की जाती है। ग्रंथालय में मदवार पुस्तकों की स्थिति इस प्रकार है- सामान्य -9898 यू.जी.सी. पुराना -911 जनभादारी -1602 बुक बैंक -8474।

वर्तमान में हिन्दी के प्रचार प्रसार हेतू इस महाविद्यालय को स्थानीय क्षेत्र के विकास  योजनान्र्गत राष्ट्र भाषा हिन्दी के उन्नयन हेतू रु. 50,000/- की पुस्तकें सांसद मद से प्रदान की गयी । उपरोक्त योजना से पुस्तकें सत्रान्त अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के छात्र-छात्राओं को प्रवेष पष्चात् प्रदान किया जाता हैं। किन्तु उन्हे पुस्तकें अध्ययन पश्चात् जमा करना अनिवार्य है। अन्य वर्ग यथा सामान्य एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं को पुस्तकें सत्र भर पुस्तकें उनके अभिरुची के अनुरुप प्रदान की जाती है।

इस सत्र से ग्रंथालय समिति एवं प्राचार्य महोदय के सुझाव स्नाकोत्तर विषयों यथा राजनिति विज्ञान, समाजषास्त्र,इतिहास, पर विभागीय ग्रंथालय की स्थापना की गई है। जिससे उच्च अध्ययन प्राप्त कर रहें है।स्नाकोत्तर वर्ग के छात्र-छात्राओं में नवाचार एवं अनुसंधान प्रवृत्ति को बढ़ावा मिल सकें। इस हेतू विषेषज्ञों देख-रेख में प्रषिक्षण दिया जा रहा है।

इन्फील्बनेट द्वारा प्रदाय एन लिस्ट की लिंकेज वर्ष 2017 से इस संस्था को प्राप्त है। इस योजना से बहुत ही कम मूल्य पर उच्च स्तरीय उत्तम राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय अष्ययन सामाग्री, इ-पुस्तकें संबंध संस्था को प्रदाय की जाती है। इस हेतू इस लिंक पर 1,00,000/- एक लाख से अधिक पुस्तकें एवं 8,000/- से अधिक कला वाणिज्य एवं विज्ञान विषय सूचीबध्द है।यह सुविधा अध्येताओं को जो एन लिस्ट से पंजीकृत है, उन्हे दिन के 24 घण्टे वर्ष के 365 दिन उनके लैपटाप, डेस्कटाप, एन्ड्रायड स्मार्ट फोन पर दी जा रही है।

वाचनालय सुविधा के तहत छात्र-छात्राओं को वाचनालय मद रु. 8394/- से निम्नलिखित समसामायिक पत्र-पत्रिकाएॅं अध्ययन हेतु प्रदान की जा रही है, यथा नवभारत, हितवाद, रोजगार नियोजन, रोजगार समाचार, कुरुक्षेत्र योजना, क्रिकेट सम्राट, इंडिया टुडे, विज्ञान प्रगति आदि , निःषुल्क जनमत भी प्रदान किया जा रहा है। समय समय पर ग्रंथालय  समिति एवं उन्मुखीकरण के अंतर्गत एन लिस्ट, ग्रंथालय सेवा, भंडार में उपलब्ध नवीन पुस्तकें की जानकारी उपयोगकर्ता को प्रदान कर अध्ययन हेतु जागरुक किया जाता है।शासकीय नियमानुसार, ग्रंथालय समिति एवं प्राचार्य महोदय के सुझाव एवं पाठकों के सहयोग से ग्रंथालय सेवा को उन्नत् किया जाता रहा है।